Wednesday, May 22, 2024
Homeकृषि समाचारबहुत कमाल की है ये मूंग की वैरायटी, जानिए घर बैठे बीज...

बहुत कमाल की है ये मूंग की वैरायटी, जानिए घर बैठे बीज मंगवाने का आसान तरीका

मूंग की खेती खरीफ फसल के रूप में की जाती है. इसकी दाल को हरा चना भी कहा जाता है. ये भारत में एक प्रमुख दाल है, जो कृषि में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. मूंग की खेती कम लागत और कम समय में खरीफ, रबी और जायद तीनों सीजन में आसानी से की जा सकती है. ऐसे में रबी फसल की कटाई के बाद किसान अपने खाली खेतों में मूंग की खेती कर सकते हैं.

मूंग की खास बात है कि यह जमीन में नाइट्रोजन की मात्रा को बढ़ाती है, जिससे अगली फसलों से बढ़िया उत्पादन मिलता है. ऐसे में अगर आप भी मूंग की खेती करना चाहते हैं और उसकी उन्नत किस्म एमएच-1142 का बीज मंगवाना चाहते हैं तो आप नीचे दी गई जानकारी की सहायता से मूंग के बीज ऑनलाइन अपने घर पर मंगवा सकते हैं.

यहां से खरीदें मूंग के बीज

राष्ट्रीय बीज निगम (National Seeds Corporation) किसानों की सुविधा के लिए ऑनलाइन मूंग की उन्नत किस्म एमएच-1142 का बीज बेच रहा है. इस बीज को आप ओएनडीसी के ऑनलाइन स्टोर से खरीद सकते हैं. यहां किसानों को कई अन्य प्रकार की फसलों के बीज भी आसानी से मिल जाएंगे. किसान इसे ऑनलाइन ऑर्डर करके अपने घर पर डिलीवरी करवा सकते हैं.

मूंग के किस्म की खासियत

मूंग की एमएच-1142 किस्म को चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय, हिसार द्वारा विकसित किया गया है. यह किस्म 63 से 70 दिनों में तैयार हो जाती है. इस किस्म की उपज क्षमता 15 क्विंटल प्रति हेक्टेयर है. खरीफ में इसकी बुवाई का उपयुक्त समय जून से जुलाई तक है. इस किस्म की खासियत है कि इसकी फसल में मोजेक, पत्ता झूरी और पत्ता मरोड़ जैसे खतरनाक रोग नहीं लगते हैं. इसके अलावा सफेद चूर्णी जैसे फफूंद रोगों का भी इसके ऊपर कोई असर नहीं पड़ता है. साथ ही इस किस्म की उपज क्षमता भी बेहतर है. यह किस्म उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, बिहार, झारखंड और उत्तराखंड में बुवाई के लिए अच्छी मानी जाती है.

मूंग के किस्म की कीमत

अगर आप भी मूंग की एमएच-1142 किस्म की खेती करना चाहते हैं, तो एमएच-1142 किस्म के बीज का 4 किलो का पैकेट फिलहाल 33 फीसदी की छूट के साथ 720 रुपये में राष्ट्रीय बीज निगम की वेबसाइट पर मिल जाएगा. इसे खरीद कर आप आसानी से मूंग की खेती कर बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं.

जानिए कैसे करें खेत तैयार

मूंग की खेती के लिए भूमि की तैयारी बहुत महत्वपूर्ण है. भूमि की दो से तीन बार जुताई करें. उसके बाद ढेलों को कुचलने और खरपतवारों को नष्ट करने के लिए हल्की जुताई करें. मूंग दाल के बीज बोने की विधि में मौसम का भी ध्यान रखना चाहिए. खरीफ की बुवाई के लिए पौधे से पौधे की दूरी 10 सेमी और पंक्ति की दूरी 30 सेमी रखने की सलाह दी जाती है. साथ ही ग्रीष्मकालीन मूंग की खेती के लिए सबसे अच्छा समय अप्रैल से मई तक का होता है.

Bhumika

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments