Tuesday, July 23, 2024
HomeहोमRainfall Alert: अगले कुछ घंटे में इन राज्यों में हो सकती है...

Rainfall Alert: अगले कुछ घंटे में इन राज्यों में हो सकती है बारिश, ओले गिरने के भी आसार

मौसम को लेकर बड़ी खबर आ रही है. भीषण गर्मी के बीच मौसम करवट ले सकता है. पंजाब में मौसम मबदलने वाला है. अगले 2 घंटे में बारिश और ओले गिरने के आसार हैं. अमृतसर, जालंधर, लुधियाना में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है. प्राइवेट वेदर एजेंसी स्काईमेट के मौसम वैज्ञानिक महेश पालावत ने जानकारी दी है. दिल्ली-NCR में भी बारिश की संभावना है.

दूसरी ओर, भीषण गर्मियों के बीच में, कश्मीर में मौसम ने आश्चर्यजनक रूप से करवट ली है. बांदीपुरा के राजदान में ताजा बर्फबारी हुई है, जिससे तापमान में काफी गिरावट आई है. बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में भी देखा जा सकता है, जहां मौसम सुहावना हो गया है. यह ऐसे समय में हो रहा है जब देश के बाकी हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ रही है.

दिल्ली में हो सकती है बारिश

मौसम विभाग की मानें तो दिल्ली के लोगों को आज रात तक राहत मिलने के आसार हैं. रात में मौसम में बदलाव देखने को मिल सकता है. थंडरस्टॉर्म एक्टिविटी हो सकती है जिसके बाद गरम हवाओं से राहत मिलेगी, लेकिन तापमान अभी भी 42 डिग्री से अधिक रहेगा. ⁠दिल्ली समेत हरियाणा और पंजाब में आज से ऑरेंज अलर्ट है. रेड अलर्ट हटा दिया गया है.

दिल्ली में अभी तक मॉनसून समय अनुसार चल रहा है. इसके 30 जून तक दिल्ली पहुंचने की संभावना है. फ़िलहाल ऐसी कोई संभावना नहीं है कि मॉनसून में देरी होगी. 30 जून से पहले हल्की फुल्की बारिश हो सकती है जिसे हम प्री मॉनसून कह सकते हैं. अभी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दो दिन का रेड अलर्ट दिया गया है और पू्र्वी यूपी में केवल आज का रेड अलर्ट है.

⁠अगर पहाड़ी राज्यों की बात की जाए तो वहां भी कुछ दिनों तक गर्मी बनी रहेगी, लेकिन जल्दी मौसम में बदलाव हो सकता है. फ़िलहाल वहां भी ऑरेंज अलर्ट है. ⁠मॉनसून धीरे-धीरे अपनी रफ़्तार पकड़ रहा है. जल्द बिहार और बंगाल तक पहुंच सकता है. केरल में भीषण बारिश जारी है और क़रीब 12 सेंमी से ज़्यादा बारिश हो रही है. मॉनसून लगभग दक्षिण भारत कवर कर चुका है और उत्तर पूर्व के भी कुछ राज्यों में बारिश हो रही है.

गुरुग्राम में 21 तक इंतजार

दिल्ली एनसीआर के गुरुग्राम में इन दिनों भीषण गर्मी का सितम जारी है. हालात ये है कि सुबह 7 बजते ही झुलसाती लू का एहसास शुरू होने लगता है और दोपहर 12 बजे तक सड़कें वीरान होने लगती हैं. ट्रैफिक की मूवमेंट बेहद कम हो जाती है तो बाजार सूने दिखाई देने लगते हैं. वही गर्मी के समय बाहर निकले स्थानीय लोगों की मानें तो बेहद जरूरी काम के चलते उन्हें गर्मी में बाहर आना पड़ता है, वर्ना वे बाहर नहीं निकलेंगे. गर्मी से बचने के लिए लोग नींबू की शिकंजी और शीतल पेय का सहारा ले रहे हैं. शीतल पेय के लिए लोगों की भीड़ से भीषण गर्मी का अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं. वहीं मौसम विभाग की मानें तो 21 जून के बाद मौसम बदलने की संभावना दिखाई दे रही है जब हरियाणा और दिल्ली एनसीआर में हल्की और माध्यम दर्जे की बारिश से थोड़ी राहत मिलने लगेगी.

धीमी पड़ी मॉनसून की चाल

उधर, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि 1 जून को मॉनसून की शुरुआत के बाद से भारत में सामान्य से 20 फीसदी कम बारिश हुई है और पूरे महीने के दौरान कुल वर्षा भी औसत से कम होगी. सामान्य से दो दिन पहले भारत के मौदानी इलाकों में पहुंचने और कई अन्य राज्यों को तेजी से कवर करने के बाद मॉनसून ने 12 से 18 जून के बीच कोई तेजी नहीं दिखाई है, जिससे उत्तर भारत के लिए इंतजार बढ़ गया है. देश का यह हिस्सा भीषण गर्मी की लहर से जूझ रहा है. हालांकि, मौसम विभाग ने कहा कि अगले तीन से चार दिनों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी, बिहार और झारखंड के कुछ हिस्सों में मॉनसून के आगे बढ़ने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं.

 

Admin

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments