Tuesday, July 23, 2024
Homeweather newsपहाड़ों पर भी पर्यटकों को गर्मी से नहीं मिल रही राहत, शिमला...

पहाड़ों पर भी पर्यटकों को गर्मी से नहीं मिल रही राहत, शिमला में 31 डिग्री के पार गया पारा

देश के कई इलाकों में मॉनसून की बारिश हो रही है इससे गर्मी से थोड़ी राहत जरूर मिली है. पर मैदानी इलाकों में अभी भी गर्मी से हाल बेहाल है. लोग गर्मी से बचने के लिए पहाड़ों का रुख कर रहे हैं. खासकर शिमला और मनाली में पर्यटकों का हुजूम उमड़ पड़ा है. पर जो गर्मी से बचने के लिए इधर भाग रहे हैं उन्हें यहां भी गर्मी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि इस बार पहाड़ों में भी गर्मी अपना कहर बरपा रही है. आमतौर पर इन दोनों शहरों में तापमान कम ही रहता है लेकिन इस बार इन दोनों शहरों में भी तापमान 31 डिग्री तक पहुंच गया है. शिमला शहर में भी तापमान 30.2 डिग्री चल रहा है. वहीं मनाली में पिछले दिनों तापमान 31 डिग्री पार कर चुका था. जबकि धर्मशाला का तापमान 36.7 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है.

माना जा रहा है कि पश्चिम दिशा से आ रही गर्म हवाओं के कारण इस बार पहाड़ों का पारा बढ़ा हुआ है. इसके अलावा मॉनसून में देरी भी इसकी एक वजह मानी जा रही है. इसके कारण फिलहाल यहां पर राहत मिलने के आसार दिखाई नहीं दे रहे हैं. मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल का कहना है कि मध्यवर्ती और मैदानी इलाकों के अलावा पहाड़ी क्षेत्रों में भी तापमान ज्यादा देखने को मिल रहा हैं. शिमला में जहां पहले कभी भी हीटवेव नहीं चलती थी, वहां भी इस बार हीट वेव देखने के लिए मिला है.

इस वजह से बढ़ा तापमान

उन्होंने कहा कि शिमला का तापमान मनाली से अधिक होता था, पर इस बार इसके उलट मनाली का तापमान शिमला से अधिक देखने के लिए मिला है. मनाली का तापमान 31 डिग्री पहुंच गया जबकि शिमला का तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस रहा. मौसम वैज्ञानिक ने कहा कि आने वाले कुछ दिनों में पहाड़ी इलाकों में गर्मी से राहत मिलने वाली है क्योंकि एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय जिसके चलते यहां पर भारी बारिश होने की उम्मीद है. साथ ही कहा कि इस बार मॉनसून में देरी और पश्चिम दिशा से आने वाली गर्म हवाओं के कारण यहां क तापमान बढ़ा हुआ है.

शिमला में पानी की किल्लत

बता दें की हिमाचल में पड़ रही भीषण गर्मी से लगातार हालात बिगड़ते जा रहे हैं. राज्य के अधिकांश हिस्सों में लू की स्थिति बनी हुई है. गर्मी और तेज धूप के कारण प्रदेश के 1797 पेयजल स्त्रोतों और छोटी परियोजनाओं में पानी लगभग सूख गया है. हालत यह है कि जिन इलाकों में लोगों को पीने के पानी के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है उन इलाकों लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए उपाय किए गए हैं. राजधानी शिमला में भी पानी का संकट खड़ा हो गया है. शहर में 4 दिन बाद पानी मिल रहा है.

 

Bhumika

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments